Nidarr Song Lyrics - Dino James

Table of Contents [Hide]

    Nidarr song Lyrics - Dino James: This song Composed , Lyrics & Sung by Dino James. Nidarr song Hindi lyrics & English{Hinglish} are given below.released on 30 August 2019.
    Nidarr song Lyrics - Dino James

    Nidarr Song Lyrics - Dino James


    [Nidarr Lyrics In Hindi]


    कभी घर से सबके डर से
    खुद से लड़ते रहता था जीभर
    मेरे versus था Dino James
    काफ़ी अरसे से छुपा भीतर
    झगड़ा काफ़ी टूटे काँची
    मेरा दुश्मन था वो या टीचर
    हो गया राज़ी बन गया साथी
    जबसे बॅगी बन गया और निडर


    कभी घर से सबके डर से
    खुद से लड़ते रहता था जीभर
    मेरे versus था Dino James
    काफ़ी अरसे से छुपा भीतर
    झगड़ा काफ़ी टूटे काँची
    मेरा दुश्मन था वो या टीचर
    हो गया राज़ी बन गया साथी
    जबसे बॅगी बन गया और निडर


    दर के बैठा हुआ था मैं भैया बिन-दिशा के नाव में
    और खींची चली जा रही थी गहरी नदी बहाव में
    धरती नही था पाँव में पूरी लाइफ लगी थी दाँव में
    चिल्ला रहा था बस लाउड मैं, खोया रहता था क्राउड में
    ताने नज़र आते थे लोगो के हर सुझाव में
    मेरा माथा था तनाव में बस रहता था दबाव में
    फिर भी लेकर चलने लगा अपने सारे घाव मैं
    फिर लड़ना नॅचुरली आ गाया मेरे स्वाभाव में


    हन तेरे जैसा दोस्त मैं हारवा लेता था सोच
    मैं नेगेटिव था अप्रोच में पर कभी ना थमा
    फिर लेके सारा बोझ मैं चला मैं खुद के खोज में
    फिर खुद का बना कोच मैं, फिर समता ये जहाँ


    रहता था बस पेन में, करता था मा और बहन मैं
    बस करता था complaint मैं, फिर एक दिन बोला बस
    अंगरो में था ट्रेड में, चुरा के सारे चैन में
    फिर ट्रेन से सीधा प्लेन में, Dino को दी सिकास


    जो मैं आज कर रहा हूँ वो सालो पहले ही कर लेता
    लाख कहते थे की बड़े सपनो से डरने का
    थक थक सॅक से मैं भर के था घर बैठा
    करता क्या Dino साला खुद मेरे versus था


    घर से सबके डर से
    खुद से लड़ते रहता था जीभर
    मेरे versus था Dino James
    काफ़ी अरसे से छुपा भीतर
    झगड़ा काफ़ी टूटे काँची
    मेरा दुश्मन था वो या टीचर
    हो गया राज़ी बन गया साथी
    जबसे बॅगी बन गया और निडर


    बस खेल रहा था मैं blind फिर ना लेफ्ट देखा ना right
    आँख बंद कर आँधी गहरी खाई में लगा दी मैने dive
    आबे खोलो ना तुम दरवाजा पर आया नही रिप्लाइ
    और जो फ्रस्ट्रेशन में बोला आज वो बन गया मेरा स्टाइल
    फिर दिल की आवाज़ सुनी सबने बिना कोई mice
    Now i'm ready for the flight 'nd ready for the fight
    सारे comments सारे like मुझे करने लगे guide
    सारे आगये मेरी मदात को फिर शिव, अल्लाह और Christ
    और फिर पूरा लड़ना weak होके, पड़ा मैं पागल freek हो के
    संग भागा फिर मैं जीतूं की या हारोगे पर जीतोगे
    पर ईगो से तुम चीखोंगे, आँखो से पानी लिखोगे
    उन चींटो से जब लिखोगे फिर तुम ही तुम बस दिखोगे


    पड़ा था जैसे piece of meat, रोता था बस हर तीस्रो दिन
    तूफान के था मैं बीचो बीच, बचलो ना बे प्लीज़ ओह प्लीज़
    आबे उठो सालो सिंचो बीज, तकलीफे डालो खिँसो में
    डर है ये सारे सिसो के, पर खुद से कहते i's ok


    तुम सोच भी नही सकते कितना हुआ मैं विफल ब्रो
    कोष भी नही सकता अपने लास्ट के विकल्प को
    सीढ़ी चाड़ने लगा धीरे धीरे से सिखर को
    सब होने लगा बना जैसे ही निडर ब्रो


    कभी घर से सबके डर से
    खुद से लड़ते रहता था जीभर
    मेरे versus था Dino James
    काफ़ी अरसे से छुपा भीतर
    झगड़ा काफ़ी टूटे काँची
    मेरा दुश्मन था वो या टीचर
    हो गया राज़ी बन गया साथी
    जबसे बॅगी बन गया और निडर


    कुछ भी हो रुकने का नही अब कुछ भी हो झुकने का नही
    कुछ भी हो रुकने का नही अब कुछ भी हो झुकने का नही
    कुछ भी हो रुकने का नही अब कुछ भी हो झुकने का नही
    कुछ भी हो रुकने का नही अब कुछ भी हो झुकने का नही
    कुछ भी हो रुकने का नही अब कुछ भी हो झुकने का नही
    कुछ भी हो रुकने का नही अब कुछ भी हो झुकने का नही
    -----------------------

    [Nidarr Lyrics in English, Hinglish]


    Kabhi ghar se sabke dar se
    Khud se ladte rehta tha jeebhar
    Mere versus tha Dino James
    Kaafi arse se chupa bheetar
    Jhagda kaafi toote kaanchi
    Mera dushman tha woh ya teacher
    Ho gaya raazi ban gaya sathi
    Jabse baaghi ban gaya aur nidar


    Kabhi ghar se sabke dar se
    Khud se ladte rehta tha jeebhar
    Mere versus tha Dino James
    Kaafi arse se chupa bheetar
    Jhagda kaafi toote kaanchi
    Mera dushman tha woh
    Ya teacher ho gaya raazi ban gaya sathi
    Jabse baaghi ban gaya aur nidar


    Dar ke baitha hua tha main bhaiya bin-disha ke naw mein
    Aur khinchi chali ja rahi thi gehri nadi bahaaw mein
    Dharti nahi tha panw mein puri life lagi thi danw mein
    Chilla raha tha bas loud main, khoya rahta tha crowd mein
    Tane nazar aate the logo ke har sujhaw mein
    Mera matha tha tanaaw mein bas rahta tha dabaw mein
    Phir bhi lekar chalne laga apne saare ghaw main
    Phir ladna naturally aagaya mere swabhaw mein


    Haan tere jaisa dost main harwa leta tha soch
    Main negative tha approach mein par kabhi na thama
    Phir leke saara bojh main chala main khud ke khoj mein
    Phir khud ka bana coach main, phir samta ye jahaan


    Rahta tha bas pain mein, karta tha maa aur bahan main
    Bas karta tha complaint main, phir ek din bola BAS
    Angaro mein tha trade mein, chura ke saare chain mein
    Phir train se sidha plane mein, Dino ko di sikas


    Jo main aaj kar raha hoon wo saalo pahle hi kar leta
    Laakh kahte the ki bade sapno se darne ka
    Thak thak sahk se main bhar ke tha ghar baitha
    Karta kya Dino saala khud mere versus tha


    Ghar se sabke dar se
    Khud se ladte rehta tha jeebhar
    Mere versus tha Dino James
    Kaafi arse se chupa bheetar
    Jhagda kaafi toote kaanchi
    Mera dushman tha woh
    Ya teacher ho gaya raazi ban gaya sathi
    Jabse baaghi ban gaya aur nidar


    Bas khel raha tha main blind phir na left dekha na right
    Ankh band kar andhi gehri khai mein laga di maine dive
    Abe kholo na tum darwaja par aaya nahi reply
    Aur jo frustration mein bola aaj wo ban gaya mera style
    Phir dil ki awaaj suni sabne bina koi mice
    Now i’m ready for the flight ‘nd i’m ready for the fight
    Saare comments saare like mujhe karne lage guide
    Saare aagaye meri madat ko phir Shiv, Allah aur Christ
    Aur phir pura ladna weak hoke, pada main paagal freek hoke
    Sang bhaaga phir main jeetun ki ya haroge par jeetoge
    Par ego se tum cheekhonge, aankho se paani likhoge
    Un chinto se jab likhoge phir tum hi tum bas dikhoge


    Pada tha jaise piece of meat, Rota tha bas har teesro din
    Tufaan ke tha main beecho beech, bachalo na bey please oh please
    Abe utho saalo sincho beej, takleefe daalo khinso mein
    Darr hai ye saare siso ke, par khud se kahte it’s ok


    Tum soch bhi nahi sakte kitna hua main vifal bro
    Kosh bhi nahi sakta apne last ke vikalp ko
    Sidhi chadne laga dheere dheere se sikhar ko
    Sab hone laga bana jaise hi nidar bro


    Kabhi ghar se sabke dar se
    Khud se ladte rehta tha jebhar
    Mere versus tha Dino James
    Kaafi arse se chupa bheetar
    Jhagda kaafi toote kaanchi
    Mera dushman tha woh
    Ya teacher ho gaya raazi ban gaya sathi
    Jabse baaghi ban gaya aur nidar


    Kuch bhi ho rukne ka nahi ab kuch bhi ho jhukne ka nahi
    Kuch bhi ho rukne ka nahi ab kuch bhi ho jhukne ka nahi
    Kuch bhi ho rukne ka nahi ab kuch bhi ho jhukne ka nahi
    Kuch bhi ho rukne ka nahi ab kuch bhi ho jhukne ka nahi
    Kuch bhi ho rukne ka nahi ab kuch bhi ho jhukne ka nahi
    Kuch bhi ho rukne ka nahi ab kuch bhi ho jhukne ka nahi

    Nidarr song - Dino James info:
    Song: Nidarr
    Singers: Dino James
    Musicians: Dino James
    Lyricists: Dino James
    Release Date: August 30,2019
     Dino James Nidarr

    Comment Below